October 2020 - Himalaya Lovers

पढ़ाई की नई परिभाषा गढ़ता अर्चना का ‘स्कूल’

hys_adm | October 22, 2020 | 1

एक स्कूल, जहां 6 साल से लेकर 20 साल तक के बच्चे पढ़ते हैं। शिक्षक और बच्चे मिलकर खेतों में काम करते हैं, अपना खाना बनाते हैं और एक-दूसरे को सीखने में मदद करते हैं। साथ मिलकर संगीत गाते और रचते […]

हिमालय को नापने वाले नैन सिंह रावत

hys_adm | October 21, 2020 | 0

नैन सिंह रावत वे शख्‍स हैं, जिन्होने अंग्रेजों के जमाने में हिमालय के क्षेत्रों की खोजबीन की। बिना किसी आधुनिक उपकरणों के नैन सिंह रावत ने नेपाल से होते हुए तिब्‍बत तक के व्यापारिक मार्ग का मानचित्रण किया। उन्होंने ही सबसे पहले लहासा की स्थिति तथा ऊंचाई ज्ञात की और […]

लड़ेंगे-जीतेंगे का ककहरा रचती शिवानी

hys_adm | October 20, 2020 | 1

वो पढ़ती हैं, लिखती हैं, आंदोलनों में गरजती हैं, सेमिनार से लेकर टीवी डिबेट तक में बड़ी स्पष्टता और बेबाकी से बात रखती हैं। छात्र राजनीति की परम्परागत दीवारों को तोड़ अस्पताल, दवा, पानी से लेकर गैरसैंण राजधानी तक के जन […]

मीनाक्षी ने ऐपण कला को दिए नए आयाम

hys_adm | October 20, 2020 | 1

लोककलाओं को उनके मूल स्वरूप बरकरार रखते हुए उसमें नए-नए प्रयोग लोगों को खूब भाते हैं। इससे जहां अपनी जड़ों से जुड़े रहने का मौका मिलता है, वहीं इस कला को जारी रख रहे कलावंतों को भी रोजगार और प्रसिद्धि का […]

मंजू टम्‍टा ने पहाड़ी पिछौड़ा को दिलाई पहचान

hys_adm | October 19, 2020 | 0

पिछौड़ा भले ही उत्तराखंड की कुमाउंनी लोक संस्कृति का पहनावा रहा हो, लेकिन अब यह क्षेत्र और राज्य की सीमाओं को लांघ चुका है। आज इसे कहीं से भी, कभी भी, कोई भी मंगा सकता है। दिलचस्प बात यह है कि […]

च्‍यूड़ा : पहाड़ की खेती का असली स्‍वाद

hys_adm | October 18, 2020 | 0

धान को भूनने, गरमा-गरम उखल तक पहुंचाने और फिर दना-दन गंज्याले यानि मूसल से उसको कूटने की पूरी प्रक्रिया किसी लयबद्ध कविता की तरह होती है। इसमें शोर के बजाय संगीत उपजता है। ऐसा संगीत जिसको कान, आंख और नाक से […]

पहाड़ की बेटी चारू का अनोखा हिमालयन कैफे

hys_adm | October 18, 2020 | 0

आप कैफे में आर्डर करते हैं और साथ में संगीत की कोई धुन में बजाने लग जाते हो, या आप चित्रकारी शुरू कर देते हैं। जब तक आपका आर्डर आता है, तब तक आप किसी दीवार,  बैंच,  डेबल या किसी चीज […]

मांगल गीतों की युवा आवाज बनीं नंदा-किरन

hys_adm | October 17, 2020 | 1

मांगल गीतों को लेकर पहाड़ की उभरती आवाज हैं नंदा और किरन। अपनी प्रतिभा की बदौलत चमोली के मांगल गीतों की प्रतिनिधि आवाज के तौर पर अपना स्थान बना रही है किरन-नंदा की जोड़ी। इनकी जुगलबंदी में गाए मांगल गीतों ने […]

मनुष्य के साहस के सामने आपदाएं भी हारी..

hys_adm | October 13, 2020 | 0

कोविड-19 से विश्वभर में मौत का ताण्डव जारी है। एक समय तो ऐसा भी आया कि दुनिया के बहुत से देशों ने अपने आप को घरों में कैद कर लिया है। गाड़ी के पहिए से लेकर कारखानों की चिमनियों से उगलता […]

चट्टान में फंसे भाजपा नेताओं के शव तीसरे…

hys_adm | October 12, 2020 | 0

चमोली। सड़क हादसे में जाने गंवाने वाले बदरी-केदार मंदिर समिति के निवर्तमान अध्यक्ष व वरिष्ठ भाजपा नेता मोहन प्रसाद थपलियाल और भाजपा ओबीसी मोर्चा के जिलाध्यक्ष कुलदीप चौहान के शव खाई से तीसरे दिन निकाले जा सके। चट्टान में फंसे शवों […]

मैं रोता-सिसकता मलेथा का सेरा हूं…

hys_adm | October 11, 2020 | 1

‘मलेथा’ ऋषिकेश-श्रीनगर-बदरीनाथ हाईवे पर पड़ने वाला टिहरी जनपद का एक ऐतिहासिक गांव है। माधो सिंह भंडारी का नाम तो आपने सुना ही होगा। गढ़वाल के महान योद्धा, सेनापति और कुशल इंजीनियर माधो सिंह भंडारी, जिन्होंने आज से लगभग 400 साल पहले […]

पहाड़ी पकवान, एक पहाड़ी की नजर से

hys_adm | October 11, 2020 | 12

जब भी संस्कृति शब्द मन में कौंधता है, कितने विचार बनने लगते हैं। संस्कृति को बनने-संवरने में जमाने लग जाते हैं। हम कभी-कभी उसके कुछ छोटे-छोटे हिस्सों को लेकर खींचातानी करने लगते हैं। संस्कृति बहुत व्यापक है, वहां वह सब कुछ […]

चारधाम परियोजना की अनोखी टनल

hys_adm | October 11, 2020 | 0

एक्सक्लूसिव : टनल का नाम आते ही अंधेरी सुरंग का ख्याल मन में आने लगता है। साथ ही किसी पहाड़ी या जमीन के अंदर कटान और उसे बनाने के दृश्य आंखों में तैरने लगते हैं, लेकिन चमोली जिले में एक अनोखी […]

पहाड़ की पीड़ा को फिल्म में उकेरा

hys_adm | October 7, 2020 | 0

कहते हैं, पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी पहाड़ के काम नहीं आते, लेकिन इस बात को अपने काम के जरिये खारिज करने की भरपूर कोशिश की है उत्तराखंड की बेटी सृष्टि लखेड़ा ने। सृष्टि की फिल्म ‘एक था गांव’ […]

काखड़ी चोरी की गाली नहीं लगती बल!

hys_adm | October 4, 2020 | 65

काखड़ी चोरी की गाली नहीं लगती बल! यह बात आप हर पहाड़ी के मुंह से यदा कदा सुन ही लोगे। आाखिर कैसी होती है ये काखड़ी और ऐसा क्या खास है इसमें। चोर क्यों करते हैं इसकी चोरी? क्या आपको पता […]

‘बाखली’ : पहाड़ी परिवेश में आनंद का अनुभव

hys_adm | October 3, 2020 | 0

यदि आप उत्तराखण्ड की प्रकृति, संस्कृति और समाज को समझना चाहते हैं तो आपके लिये एक अच्छी खबर है। जी हां, अब आप सरकारी होम स्टे ‘बाखली’ में रूककर चमोली के गांव, संस्कृति, खानपान का आनंद ले सकते हैं। उत्तराखण्ड में […]

पहाड़ के मेलों की जान है हाथी नृत्य

hys_adm | October 3, 2020 | 0

उत्सवधर्मी पहाड़ में मेलों की सशक्त परम्परा रही है। ये मेले खेती-किसानी, संस्कृति और व्यापार के इर्द-गिर्द आयोजित होते हैं। मेलों में यहां की संस्कृति के विविध रंगों का तानाबाना ऐसा रचा होता है कि आप इसके कायल हुए बिना नहीं […]

उत्तराखंड आंदोलन की ताकत थीं महिलाएं

hys_adm | October 1, 2020 | 0

दो अक्टूबर (रामपुर तिराहाकांड) उत्तराखंड के लोगों के लिए वह टीस है, जिसकी पीड़ा और घाव समय भी नहीं भर सकता है। सत्ता और आंदोलनकारियों के बीच चले इस आंदोलन ने कई दौर देखे हैं। आंदोलनकारियों की एकजुटता, जोश और बलिदान […]

सिपाहियों के हक के लिए भी लड़े गढ़वाली

hys_adm | October 1, 2020 | 0

आज वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की पुण्यतिथि है। वही ‘गढ़वाली’ जो किस्सों कहानियों में पेशावर कांड के नायक के रूप में विद्यमान हैं। आज भी लोगों के जेहन में उनके गांधी से लेकर जवाहर लाल नेहरू तक के किस्से रचे-बसे हैं। […]

सोशल मीडिया पर हमसे जुड़े

VIdeo : जिन्होंने तोड़ा था तोताघाटी की चट्टानों का गुरूर

VIDEO : पहाड़ में बीता बचपन याद दिलाती कविता

VIDEO : उत्तराखंड की दानवीर महिला जसुली आमा

VIDEO : अनोखी टनल, सरपट सफर

VIDEO : पहाड़ में गेहूं की मंडाई

VIDEO : काफल से जुड़े दिलचस्‍प किस्‍से

VIDEO : सेब की तरह दिखने वाला पहाड़ी फल

VIDEO : हिमालयन रसबेरी | हिंसर, हिंसालु

VIDEO : काखड़ी चोरी की गाली नहीं लगती बल

VIDEO : ढोल सागर के जानकार का यूं चले जाना

VIDEO : गुलमोहर नहीं देखा तो क्या देखा

VIDEO : उत्तराखंड के मेलों में हाथी नृत्य